परिवार पर कविता | Poem On Family in Hindi

Hindi Poem On Family:- मानव समाज में रहने वाले लोग अपने परिवार के लोगों के साथ रहना पसंद करते हैं ठीक उसी प्रकार जैसे जानवर अपने परिवार के साथ रहते हैं। Parivar मैं रहने से लोगों में खुशी रहती है और वह लोग अपने Family Member के साथ अपना पूरा समय व्यतीत करते हैं जो देखा जाए तो काफी अच्छी बात है। 

SHAYARI POEM POETRY ON FAMILY BEST IMAGES DAWNLOAD

दैनिक जीवन में हम सभी लोगों को यह देखने में मिलता है कि परिवार में बहुत ही ऊंचे स्तर पर आज भेदभाव उत्पन्न हो गया जो बहुत ही दुखदाई और Emotional बात सभी को अपनी फैमिली के साथ Happiness अपना जीवन जीना चाहिए।

Best Family Poems in Hindi - परिवार पर कविताएं


परिवार के अनमोल रिश्तों के, 
आँगन में झूमे जैसे बहार का, 
इन अनमोल रिश्तों को बाँधे, 
बनके धागा हो प्रेम प्यार का। 

खुशियोँ के सारे पत्ते निकले, 
दुःख ना हो जिसमें हार का। 
सुख - दुःख चाहे कितने आये, 
साथ हो अपने परिवार का। 

नयी दिशाएँ बाँह फैलाए, 
स्वागत करती बहार का। 
अंधकार को हम मिटा कर, 
फूल बने उजियार का। 

नफरतों को क्यों हम बाँटे, 
नस्लें बोये प्यार की, 
कुछ अपनों के विश्वास की, 
कुछ सपनों के संसार की। 

जलते थारों के बीच में, 
वृक्ष बने हम छाँव का। 
आओ पौधा एक लगाएँ, 
कुछ अपनो के प्यार का। 
-राजेश्वरी जोशी

Family kavita poetry parivar hindi


Short Poetry On Family Happiness Hindi


माता पिता और भाई बहनों से,
बनता है परिवार,
दादा -दादी, नाना- नानी,
होते इसके मजबूत आधार।

बुआ तो घर की रौनक होती,
चाचा से हंसता सारा घर द्वार,
भाभी और जीजाजी तो होते,
घर की खुशियों के खेवनहार।

रूठना, मनाना सब चलता,
खाना पीना और दावत होती,
बुर्जुगों के आशिर्वाद से ही,
घर में सुख और शांति होती।

पास रहें या दूर रहें,
सबकी जरूरत है परिवार,
सबका साथ और प्यार मिले तो,
बन जाता है खुशहाल परिवार।

Poem on Facebook Family In Hindi


आया ना हमको कुछ भी समझ में
लोग फेसबुक में जुड़ते हैं
कुछ अच्छी सी कुछ खरी खरी
मन की बात सब रखते हैं

लिखते हैं कोई मन के अंधेरे
दर्द और पीड़ा के डेरे
लिखते हैं कोई घाव मन के
उदासी जब मन को  घेरे

लिखता है कोई बच्चों के लिए
लिखे कोई बुजुर्गों के लिए
ईश्वर की करके पूजा 
लिखे कोई समाजों के लिए

नए नए अनुभव नए-नए विचार
हमको हर पल मिलते हैं
ऐसे ही मिलकर रहना
फूल तभी तो खिलते हैं 
-नेकराम 

Emotional Poetry Kavita On Family Hindi


सुंदर सा मेरा परिवार
बसता सभी के दिलों में प्यार
हरियाली सा हरा भरा 
मात- पिता का प्यार मिला
चाचा- चाची ,दादा- दादी 
सब मिल बना मेरा घर परिवार 
सुंदर सा मेरा परिवार
बसता सभी के दिलों में प्यार"

 बहन -भाई का प्यार निराला
 मेरा परिवार है सबसे प्यारा 
 सास- ससुर, जेठ- जेठानी 
 मेरे परिवार की है यह शान 
 देवर- देवरानी, नंदरानी 
 इसमें में इससे मेरी बढ़ती शान 
 सुंदर सा मेरा परिवार
 बसता सभी के दिलों में प्यार"

पति से मेरा है मान
बच्चे करें घर को उजियार
सुंदर सा मेरा परिवार
बसता सभी के दिलों में प्यार
 -कल्पना गौतम(स०अ०)

अन्य कविता भी पढ़े

उम्मीद करता होगी आप सभी अपने परिवार के सदस्यों का दिल से सम्मान करते ही होंगे और अपने फैमिली के साथ खुशियां ली में रहते होंगे इसलिए आप सभी को परिवार के लिए शुभकामनाएं।