बेटियों पर कविता | Poem On Daughter In Hindi

Hindi Poem On Daughter:- भारत में रहने वाले समाज में कई तरीके के भेदभाव मौजूदा समय में भी देखने को मिल जाता है हमारे देश में जिस प्रकार कई सारे अच्छाइयां हैं उसी प्रकार इसमें ढेरों सारी बुराइयों की हैं जो यह दर्शाता है कि मानो कितना लालची है। हम सभी बहुत अच्छे से जानते हैं कि हमारे देश में जातिगत भेदभाव चरम सीमा पर पहुंच चुका परंतु इसके अलावा भी अगर देखा जाए तो हमारे भारत देश में महिलाओं को पुरुषों के बराबर अधिकार पुरुषवादी समाज नहीं मानता। 

Best Kavitas Poem On Daughter In Hindi Betiyan

मां बाप अपने बेटियों को बहुत नियंत्रण में रखने की कोशिश करते हैं और उनकी शादी किसी ऐसे व्यक्ति के साथ कर देते हैं जिसे रिश्तेदार या परिवार के लोग पसंद करते हैं। बेटियों को यह हक मिलना चाहिए कि वे अपना दुल्हा स्वयं चुन सके और अपना जीवन खुशियों से जिले और हमें बेटियों को बराबर अधिकार देने की आवश्यकता है जैसा हमारे संविधान में लिखा है।

Emotional Poem On Daughter In Hindi - बेटियों पर कविता संग्रह


बेटियां खूबसूरती की पहचान  हैं
इन्हें मत तोड़ो यही हमारी शान है
बेटी की रक्षा -सुरक्षा सभी का मान है 
बेटी से ही हमारा घर परिवार है

बेटियां खूबसूरती की पहचान है 
इन्हें मत तोड़ो यही हमारी शान हैं

सदियों से बेटी को कमतर आका  है 
पर याद करो बेटी ही तो सीता माता है
अपनी मां की हर बात पर देती ध्यान  हैं
पिता की जिम्मेदारी में भी देती साथ है

बेटियां खूबसूरती की पहचान हैं 
इन्हें मत तोड़ो यही हमारी शान है

अब जहाज भी उड़ाती हैं बेटियां 
जरूरत पड़े तो हर गम सह जाती हैं बेटियां
सब्र का जीता जागता नाम है
 बेटी से ही मिलती खुशियां तमाम है 

बेटियां खूबसूरती की पहचान है 
इन्हें मत तोड़ो यही हमारी शान हैं
-कल्पना गौतम (स० अ० )

अन्य कविता भी पढ़े

उम्मीद करूंगा कि आप अपने परिवार के बेटी को संपूर्ण अधिकार देंगे और उनको पुरुषों के समान मानेंगे ऐसा करने कि हमें बहुत ही ज्यादा आवश्यकता है क्योंकि यही कारण है आज महिलाओं का प्रतिनिधित्व किसी भी संस्थान में बहुत ही कम पाया जाता है और हम लोगों को जाति प्रथा जैसी इस देश की बीमारी को खत्म करने का प्रयास हमेशा करना चाहिए।