गांधी जी के 3 बंदर कविता | Gandhi Ji Ke Teen Bandar Poem in Hindi

Poetry Gandhi 3 Monkey Hindi:- भारत देश को आजाद हुए 70 सालों से भी ज्यादा हो गया है और हम सब जानते हैं कि हमारे प्यारे इस देश को ब्रिटिश हुकुम तो द्वारा गुलाम बनाया गया था । भारत को आजाद कराने में महात्मा गांधी जिन की जयंती 2 अक्टूबर को मनाई जाती है, इन्होंने अंग्रेजो के खिलाफ बहुत बड़ा आंदोलन शांतिपूर्वक खड़ा किया जिसके कारण हमें आजादी मिली और भारत देश आज स्वतंत्र है।


गांधी जी के विचारों को कई कविताओं के माध्यम से दर्शाया जाता है जैसे कहा जाता है कि गांधी जी के कुल तीन बंदर थे, बुरा मत देखो, बुरा मत बोलो और बुरा मत सुनोये गांधी जी के आदर्शवादी बंदरों के नाम थे।

गांधी जी के तीन बंदर बच्चो की कविता - Mahatma Gandhi Ke Teen Bandar Poem in Hindi


गाँधीजी के बन्दर तीन,
सीख हमें देते अनमोल ।

बुरा दिखे तो दो मत ध्यान,
बुरी बात पर दो मत कान,
कभी न बोलो कड़वे बोल ।

याद रखोगे यदि यह बात ,
कभी नहीं खाओगे मात,
कभी न होगे डाँवाडोल ।

गाँधीजी के बन्दर तीन,
सीख हमें देते अनमोल ।

बंदरों पर बच्चो को कवित - Kids Poem On Monkey In Hindi


आपके बागोंमें तबाही मचातें हैं 
आपके खेतों से फसल चुराते हैं

हम हैं नटखट बन्दर, जंगल हमारा 
घर झूलते हैं, चिढाते हैं, करते हैं नकल

रहते हैं समूह में, टोलियों में घूमतें हैं 
ममता, दुखदर्द का अनुभव करतें हैं

खातें हैं सब्जियाँ, फल, फूल, कीड़े चाव से 
सींगदाने छीलकर खाते हैं, चुराकर आपसे

गर आप चाहतें हैं हम आपकी दुनिया में आये 
ना कृपया वन ना उजाड़े, आपसे है यही प्रार्थना

अन्य कविता भी पढ़े

मे महात्मा गांधी जी के आदर्शों को दर्शाते हुए यह जो कविता लिखी गई है कि गांधीजी के तीन बंदर यह कविता स्कूल के छोटे बच्चों के लिए लिखी गई है परंतु कई बार लोगों का कहना होता है कि गांधीजी के चार बंदर थे लेकिन ऐसा नहीं है गांधी के केवल तीन बंदर थे।

उम्मीद करूंगा कि आपको ऊपर भी एक कविता बहुत पसंद आई होगी इसलिए मैं आपसे निवेदन करूंगा कि आप इस कविता को अपने मित्रों के साथ और अपने घर में रहने वाले छोटे बच्चों को भी सुनाए और उन्हें अपने देश के बारे में अत्यधिक जानकारी बताएं धन्यवाद।