दिल्ली प्रदूषण पर कविता | Poem on Delhi Pollution in Hindi

Delhi Air Pollution Poems:- भारत देश की राजधानी दिल्ली को "दिल्ली दिल वालों की" नाम से भी जाना जाता है यह वही दिल्ली है जहां गणतंत्र दिवस और स्वतंत्रता दिवस के दिन हमारे देश के प्रधानमंत्री लाल किले पर ध्वजारोहण करते हैं। दिल्ली राज्य में है इंडिया गेट है जिसे देखने लाखों लोग हर साल पहुंचते हैं इसी दिल्ली में भारत के सभी राजनेता संसद में अपनी कार्यभार संभालते हैं। वर्तमान समय में देश की राजधानी दिल्ली में बहुत ही अधिक मात्रा में वायु प्रदूषण ध्वनि प्रदूषण की समस्या है जिसे हमें कम करने की आवश्यकता है ताकि हमारा पर्यावरण सुरक्षित बचा रहे।

Poems on Delhi Pollution in Hindi- दिल्ली प्रदूषण पर कविता

प्रदूषण की मारी थी दिल्ली बिचारी
सोशल डिस्टेंसिंग ने दूर करी बीमारी
इशक मासूक fb पर जरा देखो
रियल से आभासिक हुई प्रीत बिचारी।


 

Delhi NCR Air Pollution Poem Class 4,5,6,7,8,9


प्रदूषण से दिल्ली-NCR की सांसें थमी
कोई तो मुझे मेरी दिल्ली में जीने को बोल दो, 
कोई तो सांसों को बचाकर जिदंगी का मोल दो, 
कोई तो आकर हवाओं में मिश्री सी घोल दो, 
कोई तो मेरे शहर में सांसों को सांसों से जोड़ दो, 
कोई तो मुझे मेरी दिल्ली में जीने को बोल दो।
- नीलेन्द्र कुमार सिंघल

Emotional Poetry On Delhi Pollution Hindi


दिल्ली दर्द ए दिल् 
न हँसी आई मुझे न कभी रोना आया 
मेर हिस्से तो बस भीड़ में खोना आया.
देख दंगाइयों को में खौफ से ज़र्द होती हूँ 
गर्म कभी और कभी मैं बेहद सर्द होती 
मशहूरियत और जम्हूरियत का दर्द ढोती हूँ.. 

लाइलाज मरीजों की मैं सच्ची हमदर्द होती 
शहरों की रानी इस देश की राजधानी हूँ मैं 
मुख़्तलिफ़ तहज़ीब की एक कहानी हूँ मैं 
सियासत का मरकज़, मैं दहशत का र्निशाना 
हमले और बदहाली का मेरा इतिहास पुराना 

अफवाहों का गढ़ बुद्धिजीवियों का ठिकाना 
जब जिसकी मर्जी अपना तम्बू ऊपर ताना 
जब तब धरना अनशन, जुलूस केभी कोई रैली 
घोर प्रदूषण की मारी, देखो मेरी यमुना मैल 
फरिश्ता बंदा कोई कहीं से अमनो चैन ला 
दर्द मुल्क का समेटे मेरा चेहरा भी मुस्कुरा दे।
-सुधीर द्विवेदी

अन्य कविता भो पढे

दुनिया में कई सारे देश के अंदर ऐसे जगह है जहां वायु प्रदूषण जल प्रदूषण ध्वनि प्रदूषण जैसे कई अन्य पर दूसरों की कारण कई सारी परेशानियां मानव जीवन में कठिनाइयों का रूप ले चुके ऐसे में दिल्ली भी एक ऐसा जगह बन गया है जहां प्रदूषण बहुत ही ज्यादा होता है। हम सभी को पेड़ पौधे को लगाकर पर्यावरण की रक्षा करने की आवश्यकता है ताकि हमारे अगली पीढ़ी के लिए कोई परेशानी ना हो।