वीर तुम बढ़े चलो कविता | Veer Tum Badhe Chalo Poem in Hindi

Veer Tum Badhe Chalo Kavita Hindi :- बच्चो के मनोरंजन के लिए स्कूली किताबों में ढेर सारी हिन्दी कविताएं लिखी होती हैं जिसे Chhote Bachhe पढ़के बहोत खुश हो जाते है उन्ही कविताओं में एक कविता वीर तुम बड़े चलो है जिसे छोटे बच्चे बहोत पसंद करते है। हम लोग भी जब पड़ते थे तो हमारे भी किताबों में ऐसी बहोत सारी Hindi Rhymes लिखी होती थी जो हमे आज भी याद है, वीर तुम बढ़े चलो द्वारिका प्रसाद माहेश्वरी जी की रचना है और इस कविता को Dwarika Prasad Maheshwari जी ने वीर रस में लिखा है।

Veer Tum Badhe Chalo Dheer Tum Badhe Chalo Full Poem Kavita Hindi Images


वीर तुम बढ़े चलो कविता | Veer Tum Badhe Chalo Full Poem in Hindi 


वीर तुम बढ़े चलो ! धीर तुम बढ़े चलो !

हाथ में ध्वजा रहे, बाल दल सजा रहे
ध्वज कभी झुके नहीं, दल कभी रुके नहीं
वीर तुम बढ़े चलो ! धीर तुम बढ़े चलो !

सामने पहाड़ हो, सिंह की दहाड़ हो
तुम निडर डरो नहीं, तुम निडर डटो वहीं
वीर तुम बढ़े चलो ! धीर तुम बढ़े चलो !

प्रात हो कि रात हो संग हो न साथ हो
सूर्य से बढ़े चलो, चन्द्र से बढ़े चलो
वीर तुम बढ़े चलो ! धीर तुम बढ़े चलो !

एक ध्वज लिये हुए, एक प्रण किये हुए
मातृ भूमि के लिये पितृ, भूमि के लिये
वीर तुम बढ़े चलो ! धीर तुम बढ़े चलो !

अन्न भूमि में भरा, वारि भूमि में भरा
यत्न कर निकाल लो, रत्न भर निकाल लो
वीर तुम बढ़े चलो ! धीर तुम बढ़े चलो !
- द्वारिका प्रसाद माहेश्वरी

Veer Tum Badhe Chalo Poetry Video In Hindi



जवानों पर वीर रस की कविता - Veer Ras Ki Hindi Kavita For Javan


वीर तुम बढ़े चलो, भारत तुम्हारे साथ है, 
देश के रक्षक हो तुम, हम सब तुम्हारे साथ है,
देश के हित के लिए, देते हो तुम कुर्बानियां, 
चैन से हम रह सकें, और कुछ न हो परेशानियां,

आन बान शान हो, तुम हमारा मान हो, 
न झुके ये सर कभी, तुम देश का अभिमान हो,

गर जो मौका आएगा, ये देश डगमगाएगा, 
प्राण की बाज़ी लगाने, हर देशवासी आएगा,
वीर तुम बढ़े चलो, भारत तुम्हारे साथ है, 
देश के रक्षक हो तुम, हम सब तुम्हारे साथ है।
- ममता वाणी

अन्य कविता भी पढ़े


Veer Tum Badhe Chalo Dheer Tum Badhe Chalo Poetry को जो एक Song की तारक कवि द्वारिका प्रसाद माहेश्वरी जी ने अपनी जान डाल के लिखी आप को ये पसंद आई होगी इस लिए में आप से निवेदन करता हु की आप इस कविता को अपने बच्चो को जरूर सुनाए अगर आप बच्चे हो तो इस कविता को अपने दोस्तो को भी बताए।