गर्भवती महिला पर कविता | Poem on Pregnant Lady in Hindi

Poetry on Pregnant Women :- बच्चो के जन्म से जो हमारी रक्षा Zindagi सभी मुस्किल में हमरा भलाचाहती है उसे हम माँ कहते है, आज हम आपको Pregnant Ladies और Pregnancy के ऊपर कविता कोश दिखने जा रहे जैसे गर्भवती महिला पर हिन्दी कविता याफिर गर्भ पर कविता। महिलाए अपने बच्चे को जन्म देने से पहले योगा भी करती ये महिलाए Village की नही बल्कि शहर की होती हैं। शिशु के पैदा होने पर पिता माता सभी लोग ईश्वर का सुकीरिया अदा करते है जो भारत देश की संस्कृति का हिस्सा होता है।

Best Emotional Poetry on Pregnant Women In Hindi With Images Poster

गर्भवती महिला पर कविता - Poem on Pregnant Ladies in Hindi


हालात कविता हिन्दी
किसी अनजान से ढेरी बात
नौ माह तक दिन और रात 
बटोरती एक प्रेम की प्रभात 
किसी से जल्द होगी मुलाकात 
वो जिसकी अभी न कोई जात 

वो जो है अभी तलक अज्ञात 
अंदर से छेड़ते उसके हाथ 
अनूठी ममता, उसके जज्बात 
और मर्म के आंसुओं की बरसात
जिससे दिल न पाना चाहे निजात 
असहनीय पीड़ा के पश्चात 
देकर सभी वेदना को मात 

ले आई आज उसको साथ 
शिशु के रूप में सौगात 
'मकसद' क्या लिखे 'हालात' 
यह अंत है या शुरुआत ?
-जसमीत सिंह



Hindi Kavita - Emotional Poems on Pregnancy in Hindi


कितना सहा होगा
उन गर्भवती औरतों ने
सड़क पर चलते हुए दर्द
नंगे पैरों ,उखड़े कदमों से
भूखे पेट और उतरे चेहरे से।।

कितनी पीड़ा सही होगी
सड़क पर बच्चे को जन्म देते हुए
न कोई बिस्तर, न कोई दवा
काट कर नाल बच्चे का
टपकते अंगों से रक्त
चलना पड़ा फिर
लेकर नवजात को।।

कितना सहा होगा
उन लड़कियों और औरतों ने
जिनके राह चलते हुए
पीरियड के आ जाने पर
शर्म के मारे मर्दों के बीच
बैठे हुए गर्दन झुकाए।।

कितना सहा होगा
पीरियड के दौरान दर्द
न उनके पास पैड
न ही कोई कोई साफ कपड़ा
कपड़ा हो भी तो कैसे?
पता नहीं कितने दिन से धोए नहीं
जिससे छिपा सके वो 
रिसते रक्त को।

कितना सहा होगा
पीरियड में दर्द
जब न पैड, न कोई कपड़ा
रक्त से सने बदन को लेकर
चलते हुए सड़क पर
छिल गईं होगी वो 
पहने कपड़ों की रगड़ से
जांघों के बीच से......।।।।
 -सन्दीप चौबारा 

Shayari Quotes on Pregnant Lady's

[1]
गर्भा वस्था एक महिला
का पूर्ण श्रृंगार है,
कुदरत का दिया यह
सबसे नायाब उपहार हैं।
[2]
नाजुक है पर वीरों
को भी मात देती हैं,
जो मां जिस्म में नौ
महीने तक पनाह देती है।
[3]
नया सबेरा नई
खुशियां लाने वाली हैं
मेरे आंगन में खेलने
वो आने वाली हैं।

इन्हें भी पढ़े

दुनिया के बहोत सारी लड़कियों का बलात्कार कर उन्हे जान से मार दिया जाता चला आ रहा है ये हमारे मानव समाज की निक्षिता को दर्शाता है में तो सभी सरकारों से अपलील करूंगी की कोई कड़ा नियम बनाए। उम्मीद करता हु की Hindi Kavita जो आपने ऊपर पड़ी आपको अच्छी लगी हो तो इस आर्टिकल को अपने दोस्तो को भी शेयर करे। धन्यवाद