आज विश्व उपभोक्ता अधिकार दिवस 2021 पर कविता के ऊपर होनी वाली है। भारत मे उपभोक्ता आंदोलन की सुरुआत 1966 में मुंबई से हुई थी वर्ष 1974 में पुणे के ग्राहक पंचायत की स्थापना के बाद अनेक राज्यो में उपभोत कल्याण हेतु संस्थाओ का गठन किया  गया ओर यह आंदोलन बढ़ता गया  ओर यह आंदोलन 9 दिसम्बर 1986 को तत्कालीन  प्रधानमंत्री राजीव गांधी की पहल पर उपभोक्ता सरक्षंण विधेयक पारित किया गया और राष्ट्रपति हस्ताक्षर के बाद देशभर में लागू हुआ।

विश्व उपभोक्ता अधिकार दिवस 2021 पर कविता


इसके बाद 24 दिसम्बर को भारत मे राष्ट्रीय उपभोक्ता सरक्षण दिवश मानने का निर्माण लिया गया साल 2000 से लगातार चली आ रही यह राष्ट्रीय परम्परा उद्देश्य रखती है कि राष्ट का हर एक उपभोक्ता अपने अधिकारो के प्रति सजग हो ओर जागरूक रहे । इस साल राष्टीय उपभोक्ता अधिकार दिवस की थीम सस्टेनेबल कंज्यूमर (स्थायी उपभोक्ता) है।

विश्व उपभोक्ता अधिकार दिवस पर कविता | Hindi Poem On World Consumer Right Day 

पप्पी पगले चुप कर 
मत दे उस और ध्यान, 
तुझ जैसे उपभोक्ता के 
हर लेंगे ये प्राण।

वर्ष भर में एक दिन
हो तुम्हारा  गुणगान, 
समस्या आपकी जीवित रहे
खोजने मे रहे वो समाधान।

झेंप अपनी मिटाएं वो
कटा बैठे जो नाक और कान, 
उपभोक्ताओं को समझें
गधे घोड़े एक समान।

नमक तोड़ कानून से खींचा
महात्मा जी ने विश्व का ध्यान,
रड़क आज भी बनी हुई है 
झेले मेरा हिंदुस्तान।

नवजात शिशु दूध पी सिंथेटिक 
बनेगा बड़ा पहलवान, 
दूध नही मां के आंचल मे
कैसे कराए स्तन पान।

कर ख़ाक ज़वानी आग को पानी 
पप्पी डाल रहे शैतान, 
आवश्यक हो आ कर प्रभु जी  
आप ही किजिए समाधान।
पप्पी शर्मा अलवर।

केद्र सरकार ने  इसी साल जूलाई में कंज्यूमर पोरोटेक्शन  एक्ट 2019 के तहत नये कामर्स नियम कर दिए है दरअसल यह बदलाव  तेजी बढ़े है। ऑनलाइन शॉपिंग  के कारण किये गए है क्योंकि इनमें किये गए है कई मामले में बड़े पैमाने पर धोखा धड़ी की शिकायत सामने आ रही है केंद्र सरकार ने इसी साल जुलाई में कंज्यूमर प्रोटेक्शन एक्ट के तहत 2019 नई कमर्स नियम लागू किया गया है। 

नई दिल्ली :  दुनिया - जहान की बातो के बीच सबसे अधिक सुनाइ देना वाला शब्द  इकोनॉमी  यानी कि अर्थब्यवस्था इस अर्थब्यवस्था की नाव जे चम्पू चलाने  वाले सबसे बड़े घटक है उपभोक्ता की कुछ अर्थो में  ग्राहक  इसी महता को मानते है। केंद्र सरकार ने हाल ही में उपभोक्ता के अधिकारों में बढ़ोतरी की है ई कॉमर्स वेबसाइट के मामले को भी शामिल करते  हुए खरीदारी को सुरक्षित बनाया है ऐसे ने यह विंदु शामिल किए गए है नये नियमो को कंज्यूमर प्रोडक्शन (ई-कॉमर्स ) के तहत रूल 2020 में शामिल किया गया है।