आज की कविता मोबाइल जिसे हम मोबाईल फोन  के नाम से भी जानते है इसलिए आज मोबाइल पर कविता यानि Mobile Phone Par Kavita लिखी गई है ताकि विद्यार्थी जो कक्षा 1,2, 3, 4, 5, 6, 7, 8, 9, 10, 11, 12 के क्षात्र है वे अपने निबंध  परीक्षा में अच्छा कर सके।

आज की जीवन सैली में मोबाइल मानव के अभिन्न अंग जैसा बन गया, हर सुबह की सुरूवात मोबाइल से होता है। आज कल बच्चो को भी मोबाइल का सोख लग गया है और मानव भी अपनी परशानी को दूर करने  के लिए बच्चों को भी मोबाइल दे रहे हैं.

मोबाइल फोन पर कविता| Poem on Mobile Phone in Hindi
Mobile Hindi Poems


मोबाइल फोन को सेलुलर फोन भी कहा जाता है यह पहले वॉइस काल (बातचीत) के लिये उपयोग होता था लेकिन तकनीकी विकास में मोबाइल मानव का मनोरंजान का साधन हो गया है इसी प्रकार प्रगति ने मानव जीवन  को आसान बना दिया है आज एक मोबाइल फोन के मदत से  हम पूरी दुनिया में आसानी से बात कर  सकते है दुनिया मे किसी से भी बात कर सकते है औरर वीडियो चैट भी कर सकते है।


मोबाइल फोन पर कविता| Poem on Mobile Phone in Hindi


मोबाइल है इक अजब सी पहेली
सबके हाथों की है वह कठपुतली।
विज्ञान ने कैसा चमत्कार कर दिया
सबको अपना दीवाना बना दिया।।

नानी की कहानियां अब लगे बोर
मोबाइल के आगे सब हुआ गोल।
सोशल मीडिया पर सब व्यस्त रहते
तरह-तरह के वे ग्रुप ज्वॉइन करते।।

डिजिटल ने दिया मोबाइल का उपहार
सबको ही है मोबाइल की दरकार ।
बच्चे-वृद्ध-युवा सब मोबाइलमय हुए
पुराने रिश्ते भूल नए रिश्ते गढ़ रहे।।

नित नए-नए मित्र मोबाइल से बनते
ज्ञान-विज्ञान के मेले इसमें लगते।
नए-नए व्यंजनों की कक्षा लगती 
बागवानी की नई तकनीक होती।।

कोरोना काल में यह बना वरदान
मिला सबको शिक्षा का उपहार।
मौन रहकर हमारे सब कार्य करता 
तनहाई में हमारा वह साथी बनता।।

गुणों के साथ अवगुण भी हैं इसमें
अच्छाई के साथ बुराई भी है इसमें।
मोबाइल में ही सब लोग व्यस्त रहते
विभिन्न बीमारियों से वे ग्रस्त रहते।।

बचपन के अच्छे दिन सब भूल गए
प्यारी-प्यारी मस्तियां याद न आए।
रिश्ते-नाते भूल इसमें मन लगाते।
शादी में न जाने की जुगत लगाते।।

चिठ्ठी-पत्री लिखना-पढ़ना हम भूले 
होड़ में इसके संगी साथी सब छूटे। 
व्हाटसएप से हमारा नाता जुड़ गया
इससे बचपन सबका ही गुम हुआ।।
-अर्चना कोहली


Short Poem Shayari On Mobile Phone

कभी सोचता हूँ तुझको भी मेरा ख्याल आएगा
मोबाइल थामे रखता हूँ ,तेरा मिसकॉल आएगा
मेरा  वाट्सप फेसबुक  सब अधूरा है तेरे बिना
कभी तो कुछ भी तो तेरे जहन में सवाल आएगा

-किशोर छिपेश्वर"सागर"


Mobile Number Par Hindi Kavita

मेरे मोबाइल में
एक दोस्त का नम्बर है
दोस्त अब नहीं है संसार में
उसका नम्बर अभी भी सेव है
मेरे मोबाइल में

दोस्त के जाने के बाद
उस नम्बर पर
मैंने कभी कोई कॉल नहीं किया
और जानता हूँ 
कभी करूँगा भी नहीं

यहाँ तक कि मैंने कभी 
यह जानने की कोशिश भी नहीं की
आख़िर वह नम्बर काम करता भी है या नहीं

जब कभी मोबाइल पर
मेरी आँखों के सामने
आ जाता है वह नम्बर
मैं क्षणभर ठहर जाता हूँ
और कुछ सोचने लगता हूँ

दोस्त जो अब नहीं है दुनिया में
उसका नम्बर डिलीट करते हुए
न जाने क्यों?
काँपने लगते हैं मेरे हाथ
मन में कुछ अजीब-सा दरकता है

सोचता हूँ
मोबाइल में जहाँ रह सकते हैं सैकड़ों नम्बर
तो फिर उसी एक नम्बर से
क्या परेशानी ?

उसके अलावा
बाकी जितने नम्बर हैं मोबाइल में
उन सभी से भी
कौन-सा रोज बात होती है?
- जसवीर त्यागी

मन विचलित हुआ यह देखकर,
लिख रहीं हूँ  विवश होकर 
मोबाइल कर रहा बच्चों के वर्तमान और भविष्य विनाश,
बच्चों का बचपना खा रहा बन पिशाच,
बच्चों रुक गया बौद्धिक विकास,
मोबाइल के इर्द -गिर्द रहते दिन -रात,

तकनीकी का चरम पर हो रहा दुरूपयोग,
विज्ञान का वरदान बन रहा अभिशाप,
दुधमुहे बच्चों तक को मोबाइल की लगी लत,
खेल खिलौने छोड़, सब मोबाइल में व्यस्त,
खाना -पीना छूटा ऐसी मोबाइल की ख़ुमारी,
रोकिये बच्चों को, बचाइये इन्हें इससे पहले के 
घातक बन जाये ये बीमारी,,
-पूजा मिश्रा

Smart Phone Par Kavita 

पहले कहां 3G,4G हुआ करते थे
हमारे जमाने में गुरुG और पिताG हुआ करते थे
जब पड़ते थे उनके हाथों की मार
सारे नेटवर्क अपने आप काम कर जाया करते थे

पहले के जमाने में अपने से बड़ों को
बच्चे खूब सम्मान दिया करते थे
सामने से आ जाये गुरु तो 
दण्डवत प्रणाम किया करते थे

कहां गई वो सभ्यता,कहां गये वो उच्चविचार
अब वो देखने को कहां मिला करते हैं
सबके हाथों में मोबाइल
और कानों में लीड हुआ करते हैं

चाहे अनचाहे चीज को देख
बच्चे समय से पहले जवान हुआ करते हैं
कौन समझाए किस को
अब तो सभी लड़ने को तैयार रहा करते हैं
 -अर्जुन थापा 'चिन्तन'
                 
सन 1973 से पहले मोबाईल फोन कारो तथा वाहनों मे स्थापित होते थे मोटोरोला पहली कम्पनी थी जो हैंडहैल्ड मोबाइल फोन का उत्तपादन किया जान ऐफ मोटोरोला प्रमुख पोर्टबल संचार उत्पादों में ओर कपूर बॉस ने मोबाइल फोन के उपकरणों विकाश में महत्त्वपूर्ण भूमिका नीभाई चूकिं मिशेल मोटोरोला को बेतार संचार उत्पादो को विकाश करने में विफल  रहे 
                            
पहले मोबाईल सस्ता मिलता था मगर अब एक ऐसा समय आ गया है हर लोगो  के पास कम से कम एक मोबाइल जरूर ही मिलेगा मोबाइल से बहुत हानि भी है लाभ भी है। हम  से बात भी नही कर सकते बल्कि उससे ज्यादा से ज्यादा हर काम मे उपयोग कर सकते है आज कल  तो कर लोग मोबाइल में ब्यस्त रहते है मोबाइल को सिर्फ बात  ही नही कर सकते बल्कि उससे इंटरनेट  गेम  मूवी आदि भी देख सकते है।

इंटरनेट आने से हम लोगो को कम्प्यूटर का उपयोग बहुत कम हो गया है हर कोई अपने मोबाइल से लगभग सारे काम कर ले रहे है कम्प्यूटर को अब ज्यादा जरूरत नही पड़ रही है अब हर काम मोबाइल से हो जाता है तो क्या कम्प्यूटर चलाये औरर काम समय मे जफ काम हो रहा है मोबाइल फोन से दुनिया भर में बाते  हो  जा रही मोबाइल का उपयोग ब्यापार में जोड़ने में की जाती है कोई भी समान भीऑनलाइन के जरिये बजी मागव जा सकता है। उम्मीद करता हु आपको जीवनी अछि लगी होगी और आप ऊपर के कविताएँ पसंद आई होगी।