तोते पर कविता | Parrot Poem In Hindi

आज की कविता तोता जिसे हम मिठू के नाम से भी जानते है इसलिए आज तोता पर कविता यानि मिठ्ठू पर कविता लिखी गई है ताकि विद्यार्थी जो कक्षा 1,2, 3, 4, 5, 6, 7, 8, 9, 10, 11, 12 के क्षात्र है वे अपने निबंद परीक्षा में अच्छा कर सके।

तोता विश्व के सूंदर पक्षियों में से एक है। जिसे मिठ्ठू या ,पोपट कहकर बुलाया जाता है। दुनिया में सबसे सुंदर और समझदार पक्षियों में से एक है जो मुख्यतः उष्णकटिबंधीय और उपोष्णकटिबंधीय क्षेत्रों में पाया जाता है। यह एक रंगीन पक्षी होते है जो दुनिया भर में पाए जाते है ये वजन में एक मे एक औस से लेकर नौ पाउंड तक होते है। जो दक्षिण अमेरिका ,मध्य अमेरिका और मैक्सिको में पाया जाता है, उन्हें न्यू वर्ल्ड तोते भी कहा जाता है। जबकि एशिया ,अफ्रीका और ऑस्ट्रेलिया में पिराने वर्ल्ड तोते होते है और कभी -कभी उनके भूरे पंख होते है।

तोते पर कविता | Parrot Poem In Hindi
Poem On Parrot In Hindi


आज दुनिया मे तोतों की 300 से अधिक प्रजातिया है हालांकि दु:ख की बात यह है कि उनमें से कुछ लुप्त होने के कगार पर आ गए है। यह शांत शीतोष्ण आवासों का उपयोग करते है। उनका आहार प्रजातियों के आधार पर अलग-अलग होता है। तोता शाकाहारी प्राणी है जो फल बीज, दान, मिर्च, पत्तिया, खाता है। आम अमरूद जैसे फल इसके प्रिय है। यह कहने को अपने पंजे में पकड़ लेते है,और फिर चोंच से उसे तोड़ कर कहते है। यह पूरी दुनिया मे पाया जाता है,भारत मे भी यह हर जगह पाया जाता है ज्यादातर यह गर्म जगहों पर मिलता है।

तोते पर कविता | Parrot Poem In Hindi

वाणी हो अपनी मानों तो कोयल सा,
दुसरे की वाणी बोल तोते तो पिंजरे में बन्द हो जाते हैं,
मीठी वाणी ही दिलों में घर बनाती है,

और वाणी ही है वो औजार जो शरीर को चोट पहुंचाऐ बिना दिल को भेद देती है
जिसमें न है कोई आवाज बस घायल कर देती है
बस मधुर वाणी के साथ हम खुल कर जीना चाहते थे,
कुछ मन की बातें आप से साझा करना चाहते थे,

पता नही है कितनी है जिंदगी, बस कुछ बातें ही तो करना चाहते थे,
न था कोई स्वार्थ उसमें फिर क्या सच्चाई आपको समझाते,
जब था ही नहीं कोई समस्या फिर शब्दों का जाल कैसे बिछा पाते,

वाणी रुपी तीर ने मानों दिल को दिया एक जवाब - रुक जाओ प्रिये -
इसके आगे नहीं खत्म करो सारी बात
वाणी को दो अल्प विराम-
क्योंकि तुम्हें नहीं बदलना है, अच्छाई,सत्य तो कभी बदलते ही नहीं-
बदलना तो झूठ और बुराई को पड़ता है
                                                      

 तोते में जान हिंदी कविता

मुहब्बत की यूँ इब्तिदा नजर आती है
उसकी सूरत में मुझे माँ नजर आती है
दिल ये मानने को हरगिज राजी नहीं 
उसकी ना ना में भी हाँ नजर आती है।

मेरे नाम पे उसकी भी नजर झुक जाती
थोड़ी थोड़ी वो भी मेहरबां नजर आती है
वो जो नहीं भी कहती मैं समझ जाता हूँ
आँखें आईना ही नहीं जुबां नजर आती है।

जबसे मन नें नजरिया, लिबास बदला है
बहुत  खूबसूरत ये दुनियाँ नजर आती है
खुद से भी लंबी गुप्तगू होने लगी है अब 
साँसों में एक दरिया रवां नजर आती है।

ये दुनियाँ कहती है कि तू बावरा हो गया है
मुझे ये दुनियाँ बावरा,दरमियाँ नजर आती है
हो सकता है  कि वो ठीक भी कह रहे हों
पर मुझे बारहा ये उल्टा चश्मा नजर आती है।

मतलब साफ है  कि हमें इश्क़ हो गया है
आशिकों को और कुछ कहाँ नजर आती है
अब समझ मे आ रहा,क्यों किसी को खुदा
और एक तोते में अपनी जाँ नजर आती है।

--शैल

तोतों की उम्र 15 से 20 साल तक होती है। कुछ तोतो के गले पे लाल रंग का सर्कल होता है उन तोतो को कंठी वाला तोता कहते है। तोते को पालतू बना कर पिंजरे में रखा जाता है, तोते की 350 से प्रजातियों की खोज की जा चुकी है। तोते झुंड में रहना पसंद करते है।


तोते को प्यार से मिठ्ठू कहते है। कुछ प्रजाति के तोते रंग बिरंगे होते है,तोते का वैज्ञानिक नाम सिटाक्यूला है। दुनिया का सबसे छूटे तोते का नाम पिग्मी पैरॉट जो उंगली के आकार का है। तोता ही एक मात्र ऐसा पक्षी है जो भोजन को पंजे में दबाकर खाता है। उम्मीद करता हु की आपको हमारे टीम के लोगो के कविताएँ आपको बहोत सुंदर लगी होगी बस आप से यही आशा करूँगा की आप खुश रहे और हमारी लिखी गई कविताये पड़ते रहे।